ATTITUDE SHAYARI IN HINDI- मैं तो आहिस्ते-आहिस्ते

Image of attitude shayari in hindi

मैं न गिरता हूँ।
न संभलता हूँ।
न मैं तेज़ी से चलता हूँ।
इस तेज़ी से चल रही दुनियाँ में,
जिंदगी का हर मज़ा धीरे-धीरे लिए चलता हूँ,
मैं तो आहिस्ते-आहिस्ते चलता हूँ।

मैं तो आवारा बना फ़िरता हूँँ।

मैं न सोचता हूँ,
न समझता हूँ,
न किसी से कुछ कहता हूँ।
मैं तो खुद ही से बातें करता हूँ
मैं तो हूँ शान्त स्वभाव का,
मैं तो आहिस्ते-आहिस्ते चलता हूँ।

मैं न दिन की,
मैं न रात की,
मैं न वक़्त की परवाह करता हूँ।
मैं तो किसी भी वक्त अपने लफ़्जों को लिख दिया करता हूँ।
अपने सोच को शायरी में धीरे-धीरे उतार दिया करता हूँ।

मैं तो आहिस्ते-आहिस्ते चलता हूँ।

READ MORE: DESHBHAKTON PAR SHAYARI

Hey guys I hope you all will like my this blog on attitude shayari in hindi. Actually attitude is necessary at some situation. In my view attitude is not bad thing it show the nature of a person that how he/she is living his/her life, how he/she is expressing his/her view. In this poetry, I am not only talking about my attitude but talking about inpirations that how to live your life in this world where
Every person is trying to push themselflves in this fast moving world and they forget what they want. After all, what is there will, what does they want to do, they are lost in the crush of this world.

SO,

इस कविता के माध्यम से मैं बताना चाहता हूँ कि मैं तो सारे काम अहिस्ते-अहिस्ते ही करता हूँ, अपनी मर्जी से जीता हूँ, अब मैं सब से पीछे ही रह न जाऊँ पर अपनी जिंदगी धीरे-धीरे ही जियुंगा। .

IF YOU LIKE THIS POEM THEN SHARE TO YOUR FRIENDS, FAMILY, AND ALL KNOWN PERSON TO APPRECIATE MY WORK. IT WILL HELP ME TO WRITE BETTER.

THANKYOU.

This Post Has 5 Comments

  1. Very nice

    1. Thanks

    1. Thanks

Leave a Reply

Close Menu